Recents in Beach

31 January 2020 Current Affairs In Hindi | Hindi Current Affairs Daily Current Affairs | Daily Current Affairs

31 January 2020 Current Affairs In Hindi | Hindi Current Affairs Daily Current Affairs | Daily Current Affairs

31 January 2020 Current Affairs In Hindi | Hindi Current Affairs Daily Current Affairs | Daily Current Affairs
31 January 2020 Current Affairs In Hindi | Hindi Current Affairs Daily Current Affairs | Daily Current Affairs

1. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा 31 जनवरी 2020 को संसद में पेश की गई आर्थिक समीक्षा 2019-20  के अनुसार विश्व बैंक के कारोबारी सुगमता श्रेणी में भारत 2014 के 142 वें स्थान से 2019 में किस स्थान पर पहुँच गया है?
a. 63✔️
b. 70
c. 79
d. 82

2. आर्थिक समीक्षा 2019-20 द्वारा ‘भारत में भोजन की थाली का अर्थशास्त्र’ किस नाम से दर्शाया गया है?
a. थालीनॉमिक्स✔️
b. फ़ूड टू फाइनेंस
c. प्लेट टू पॉकेट
d. पॉकेट एंड प्लेट

3. आर्थिक समीक्षा 2019-20 के अनुसार, ट्रिलियन डॉलर में जीडीपी के संदर्भ में दुनिया की शीर्ष 10 अर्थव्यवस्थाओं में भारत की अर्थव्यवस्था कौन से स्थान पर है?
a. तीसरे
b. चौथे
c. पांचवें✔️
d. छठे

4. आर्थिक समीक्षा 2019-20 की रिपोर्ट के अनुसार 2014-15 से 2017-18 के मध्य संगठित निर्माण क्षेत्र में कार्यरत कुल श्रमिकों की संख्या में कितनी बढ़ोतरी दर्ज की गई है?
a. 9.5 लाख
b. 11.3 लाख
c. 15.7 लाख
d. 17.3 लाख✔️

5. आर्थिक सर्वेक्षण 2019-20 में वित्त  वर्ष 2020-21 के लिए देश की जीडीपी ग्रोथ कितना रहने का अनुमान लगाया गया है?
a. 6 से 6.5 प्रतिशत✔️
b. 5.5 प्रतिशत
c. 5 प्रतिशत
d. 4.5 से 5.5 प्रतिशत

6. आर्थिक समीक्षा 2019-20 के अनुसार 2011-12 से 2017-18 के बीच कितनी नई नौकरियां सृजित की गईं?
a. 6.3 करोड़
b. 4.4 करोड़
c. 5.5 करोड़
d. 2.62 करोड़✔️

7. आर्थिक समीक्षा के अनुसार 2018 में भारत में कितनी नई कम्पनियों का गठन हुआ है?
a. 80,000
b. 93,000
c. 1,24,000✔️
d. 1,39,000

8. आर्थिक समीक्षा 2019-20 के अनुसार दिसंबर 2019 तक जीएसटी की कुल मासिक वसूली कितने गुना बढ़कर 1,00,000 करोड़ रुपये से अधिक हो गई है?
a. 5 गुना✔️
b. 6 गुना
c. 7 गुना
d. 8 गुना

9. मुख्य आर्थिक सलाहकार कृष्णमूर्ति सुब्रमण्यन ने वित्त वर्ष 2020-21 में कृषि और इससे जुड़े क्षेत्र में कितना प्रतिशत वृद्धि का अनुमान जताया है?
a. 5.5 प्रतिशत
b. 4.8 प्रतिशत
c. 3.4 प्रतिशत
d. 2.8 प्रतिशत✔️

10. आर्थिक समीक्षा के अनुसार, वित्त वर्ष 2024-25 तक पांच हजार अरब डॉलर की अर्थव्यवस्था बनाने के लिये भारत को बुनियादी संरचना पर कितना खर्च करने की जरूरत है?
a. 1200 अरब डॉलर
b. 1400 अरब डॉलर✔️
c. 1600 अरब डॉलर
d. 1800 अरब डॉलर

उत्तर:👇🇮🇳
1. a. 63
वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने संसद में आर्थिक समीक्षा 2019-20 पेश करते हुए कहा कि भारत ने विश्व बैंक के कारोबारी सुगमता श्रेणी में 79 स्थानों की छलांग लगाई है. भारत 2014 के 142 वें स्थान से 2019 में 63 वें स्थान पर पहुंच गया है. आर्थिक समीक्षा के अनुसार, भारत ने 10 मानकों में से 7 मानकों में प्रगति दर्ज की है. 

2. a. थालीनॉमिक्स
आर्थिक समीक्षा 2019-20 में एक आम आदमी द्वारा पौष्टिक थाली के लिए किये जाने वाले खर्च की समीक्षा करने के लिए इसे थालीनॉमिक्स नाम दिया गया है. थालीनॉमिक्स, पूरे भारत में थाली के लिए आम व्यक्ति द्वारा किये जाने वाले भुगतान का अध्ययन है. आर्थिक समीक्षा के थालीनॉमिक्स में कहा गया है कि 2006-07 की तुलना में 2019-20 तक शाकाहारी थाली की वहनीयता में 29 प्रतिशत का सुधार हुआ है.

3. c. पांचवें
आर्थिक समीक्षा 2019-20 में कहा गया है कि भारतीय अर्थव्यवस्था दुनिया की पांचवीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था है. आंकड़ों के अनुसार, वर्ष 2019 में भारत की अर्थव्यवस्था का आकार 2.9 ट्रिलियन अमेरिकी डॉलर की अर्थव्यवस्था का किया गया है. इसमें कहा गया है कि जुलाई 2019 में पेश किये गये बजट 2019-20 में भारत को 5 ट्रिलियन अमेरिकी डॉलर की अर्थव्यवस्था बनाए जाने संबंधी दृष्टिकोण पर स्पष्ट बल दिया गया है.

4. d. 17.3 लाख
आर्थिक समीक्षा के अनुसार 2014 से 2018 के बीच कुल श्रमिकों की संख्या में 14.7 लाख की वृद्धि दर्ज की गई जबकि संगठित क्षेत्र में कार्यरत श्रमिकों की बढ़ोतरी 17.3 लाख हो गई है. आर्थिक समीक्षा में कहा गया है कि पिछले छह वर्षों में नियमित वेतन द्वारा अधिकृत औपचारिक रोज़गार की हिस्सेदारी में 22.8 प्रतिशत की वृद्धि हुई है. जबकि ग्रामीण क्षेत्रों में आकस्मिक श्रम गिरावट देखी है है क्योंकि वहां ग्रामीण श्रमिक कृषि से औद्योगिक संबंधी कार्यकलाप की ओर शिफ्ट हुए हैं.

5. a. 6 से 6.5 प्रतिशत
वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा पेश की गई आर्थिक सर्वेक्षण रिपोर्ट 2019-20 में वित्त  वर्ष 2020-21 के लिए देश की जीडीपी ग्रोथ 6 से 6.5 प्रतिशत रहने का अनुमान लगाया गया है. वर्तमान में, वित्तए वर्ष 2019-20 के लिए देश की जीडीपी ग्रोथ का अनुमान 5 प्रतिशत है.

6. d. 2.62 करोड़
आर्थिक समीक्षा में बताया गया है कि अतिरिक्त रोजगार के सृजन की कोशिशों के साथ नौकरी की गुणवत्ता में सुधार और अर्थव्यवस्था को औपचारिक रुप देने पर विशेष ध्यान दिया गया. संपूर्ण रुप से लगभग 2.62 करोड़ नए रोजगार का सृजन हुआ जिसमें ग्रामीण क्षेत्रों में 1.21 करोड़ और शहरी क्षेत्रों में 1.39 करोड़ रोजगार मिले. आर्थिक समीक्षा में देश की अर्थव्यवस्था में महिला भागीदारी को प्रोत्साहित करने वाले विभिन्न कार्यक्रमों और विधायी उपायों को भी रेखांकित किया गया.

7. c. 1,24,000
वर्ष 2014 में गठित की गई लगभग 70,000 नई कंपनियों की तुलना में यह संख्यां वर्ष 2018 में लगभग 80 प्रतिशत बढ़कर तकरीबन 1,24,000 के स्त,र पर पहुंच गई. रिपोर्ट के अनुसार, 2006-14 के दौरान नई कंपनियों के गठन में 3.8 प्रतिशत की वृद्धि दर की तुलना में 2014-18 के दौरान वृद्धि दर बढ़कर 12.2 प्रतिशत हो गई. सर्विस सेक्टर में सर्वाधिक उद्यमिता दिल्लीृ, मिजोरम, उत्तर प्रदेश, केरल, अंडमान व निकोबार द्वीप और हरियाणा में देखने को मिली.

8. a. 5 गुना
आर्थिक समीक्षा में बताया गया है कि 2019-20 के दौरान (दिसंबर, 2019 तक), जीएसटी की कुल मासिक वसूली 5 गुणा बढ़कर 1,00,000 करोड़ रुपये से अधिक हो गई. अप्रैल से नवम्बर, 2019 के दौरान, केंद्र एवं राज्यों के लिए कुल जीएसटी की वसूली 8.05 लाख करोड़ थी, जो पिछले वर्ष की समान अवधि की तुलना में 3.7 प्रतिशत वृद्धि दर्शाता है.

9. d. 2.8 प्रतिशत
आर्थिक समीक्षा में यह सुझाव दिया गया है कि कारोबार में सुगमता बढ़ाने और लचीले श्रम कानूनों को लागू करने से देश के विभिन्न जिलों में अधिकतम रोजगारों का सृजन हो सकता है. साथ ही यह भी अनुमान लगाया गया है कि 2020-21 में कृषि और इससे जुड़े क्षेत्र में 2.8 प्रतिशत की वृद्धि हो सकती है. सर्वे में कहा गया है कि यदि घरों की बिक्री बढ़ती है तो बैंकों और नॉन-बैंकिंग फाइनेंस कंपनियों को फायदा मिलेगा.

10. b. 1400 अरब डॉलर
वित्त मंत्री द्वारा पेश की गई आर्थिक समीक्षा रिपोर्ट 2019-20 में कहा गया है कि भारत को यदि 2024-25 तक पांच हजार अरब डॉलर की अर्थव्यवस्था बनना है तो इसे बुनियादी संरचना पर 1,400 अरब डॉलर खर्च करने की जरूरत होगी. वित्ता वर्ष 2020 की दूसरी छमाही में देश की अर्थव्यवस्था पटरी पर लौट आने का अनुमान लगाया गया है. इसके बाद वित्त  वर्ष 2021 में इसके मजबूत स्थिति में पहुंचाने का अनुमान जताया गया है.

Post a Comment

0 Comments